Mami ki chut Phadi ५ मिनट में भाभी की चुदाई

0
510

Mami ki chut Phadi ५ मिनट में भाभी की चुदाई

आज मैंने अपनी गर्लफ्रेंड (पड़ोसन भाभी) को उसी के घर में दीवार के सहारे खड़ा करके चोदा।

हुआ यू की बहुत दिन हो गए थे हम दोनों को चुदाई का खेल खेले हुए। भाभी भी मेरा बड़ा और मोटा लण्ड लेने को तड़प रही थी और मै भी उसको चोदने के लिए तरस रहा था।
हमे चुदाई करने के किये जगह नहीं मिल रही थी, क्योकि भाभी के घर में इन दिनों मेहमानों का बहुत आना-जाना लगा हुआ है और मेरे घर में तो चुदाई संभव ही नहीं क्योकि मेरे घर में तो हमेशा कोई न कोई तो रहता ही है।
भाभी हमेशा मुझे मैसेज कर के बोला करती थी की- जानु आपका मोटा लण्ड लेने के लिए मेरी चूत तड़प रही है, आपका मोटा लण्ड चूसना हे मुझे। मै भी कहा करता था की- हाँ मेरी जान ! तेरी याद में मेरा लोड हमेशा खड़ा हो जाता है, तुम्हारी रसीली चूत में घुसने के लिए तड़प रहा है।

कल रात में भाभी का मैसेज आया और उसने कहा की बहुत हुआ अब मुझे आपका लण्ड चाहिए ही चाहिए कुछ भी हो जाये। तो मेने कहा ठीक है किसी किसी होटल का जुगाड़ करता हु। तो भाभी बोली नहीं घर छोड़ कर नहीं जा सकती, यहाँ मेहमानों का ख्याल कौन रखेगा। मेने कहा तो तुम ही बताओ कहा करना है? तुम्हे चोदे बिना नहीं हर सकता मै।

भाभी बोली कल दोपहर को तैयार रहना जब मै मैसेज करुँगी तो आ जाना। तो मेने पूछा क्यों दोपहर को सब लोग कहा जाने वाले है? भाभी ने कहा दोपहर को सब लोग सो जाते है तब हम चुदाई करेंगे। मेने पूछा चुदाई कहा करेंगे ? भाभी ने बताया किचन में। मेने कहा कोई आ गया तो क्या होगा अपना ? भाभी बोली में नहीं जानती बस मुझे तो लण्ड चाहिए ही। मेने कहा ठीक है, मै आ जाऊंगा।

[irp]

फिर मै सोने की कोशिस करने लगा। फ्रेंड्स भाभी के साथ इतनी सी चैटिंग में मेरी तो हार्टबीट बहुत बड़ गई थी। मै बिस्तर पे लेटे-लेटे सोच रहा था की कही इस चुदाई के चक्कर में पकड़े गए तो क्या होगा, पर भाभी माल ही ऐसा हे की चोदे बिना नहीं हर सकते। चुदाई तो होनी ही थी।

फिर आज दोपहर को भाभी का मैसेज आने से पहले ही मै भाभी के घर चला गया। क्योकि पडोसी हे तो घर पर तो आना-जाना लगा रहता हे तो कोई भी ये सोच नहीं सकता की मै आज यहाँ क्या करने आया हूँ।

[irp]

थोड़ी देर मेहमानों से बात करता रहा फिर वो लोग एक-एक करके सोने चले गए। भैया तो सुबह से जॉब पर चले जाते है। अब मै और भाभी ही रह गए। सोफे पर बैठे-बैठे बात कर रहे थे। भाभी थोड़ी देर तक तो नॉर्मल बात करती रही फिर अचानक से मेरे सिर पर थप्पड़ मार दिया, मेने गुस्से में बोला क्या? तो भाभी बोली नालायक बोला था न की जब मैसेज करू तो आना, तेरे चक्कर में ये लोग इतनी देर तक बैठे रहे। मेने बिना कुछ कहे भाभी के बूब्स पकड़ लिए और जोर-जोर से दबने लगा।

भाभी सोफे से उठ कर किचन में भागी, मै भी उसके पीछे हो लिया। और पीछे से बड़े-बड़े बूब्स पकड़ कर भाभी को अपनी तरफ घुमाया और किश करने लगा और उसकी बड़ी गांड को दबाने लगा। भाभी किश करते हुए बोली अपना लण्ड मेरी चूत में डालो जल्दी से, तड़प रही हु तुम्हारे लण्ड के लिए।

मेने भी सोचा की जल्दी से चोद लो पता नहीं कब कौन आ जाये। लण्ड पेन्ट से निकाला और भाभी को दिवार के सहारे खड़ा करके साडी और पेटीकोट उठा कर सीधे लण्ड चूत में डाल दिया। जैसे ही लण्ड चूत में डाला भाभी के मुंह से ााह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् निकल गई। भाभी मुझसे लिपट गई और मेरे कान में धीरे-धीरे बोलने लगी- हां चोदो मुझे जान चोद…… कितने दिनों से इस लण्ड के लिए तड़पी हूँ, चोदो जोर से जोर से चोदो ााह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् ााह ाहह ूाह हऊाा आई आई आह अआह्ह्ह करे जा रही और मै बिना कुछ बोले दनादन पेले जा रहा था और लगभग ५ मिनट में तो भाभी अकड़ गई और पानी छोड़ दिया उसका पानी उसकी जांघों से होता हुआ बहने लगा।

मै तो फूल स्पीड में चुदाई कर रहा था। भाभी के पानी छोड़ देने के कारण अब फच फच फच की आवाज आने लगी थी। भाभी शुू शू शू करने लगी क्योकि फच फच की आवाज इतनी तेज थी की दूसरे रूम तक सुनाई दे सकती थी। मै बिना रुके चोदता गया और अगले २ मिनट में मेने भी अपना सारा रस भाभी की चूत में भर दिया। फिर एक मिनट ऐसे ही खड़े-खड़े दोनों हाँफते रहे और फिर अलग हुए और फिरसे सोफे पर आ कर बैठ गए। तो ये थी ”५ मिनट में भाभी की चुदाई” कैसी लगी ? प्लीज कमेंट करिये।

[irp]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. .