Dono baheno ki kamuk dastan

0
1795

Dono baheno ki kamuk dastan

दोस्तों कहानी 3 साल पहले की है जब में 12वीं क्लास में पढ़ती थी, तब मेरी उम्र 19 साल की थी और मेरी दीदी 24 साल की थी. दीदी ने डॉक्टर का कोर्स किया है और वो अभी गावं में ही सरकारी हॉस्पिटल में काम करती है. वो पिछले 5 सालों से कॉलेज हॉस्टल में ही रहती थी इसलिए उसका और मेरा ज्यादा रिलेशन नहीं था और मेरा भाई भी 2 साल से पूना के मिलेक्ट्री कॉलेज में डॉक्टर का कोर्स कर रहा है. मैंने अभी-अभी 11वीं की परीक्षा देकर 12वीं क्लास में पढना शुरू किया था. मुझे सभी विषय सरल लगते थे, लेकिन साइन्स थोड़ा कठिन लगता था, मैंने साइन्स के लिए एक्सट्रा क्लास भी लगाई है. में रोज अच्छी पढाई करती हूँ, क्योंकि मुझे भी अपने भाई-बहन की तरह डॉक्टर बनना था. मेरा एक छोटा रूम है जिसमें में अकेली पढाई करती थी, लेकिन अब दीदी का कोर्स पूरा होने के कारण दीदी ने भी मेरा रूम शेयर कर लिया है. अब हम दोनों बहनें अच्छी तरह घुल मिल गये थे, अब दीदी मेरी अच्छी सहेली बन गयी है और अब वो मुझे मेरी पढाई में भी मदद करती थी. अब रोज का एक काम फिक्स हो गया था, वो हॉस्पिटल जाती और में कॉलेज जाती और जल्दी घर आकर पढाई करती थी.

एक दिन जब में घर आई तो मेरे कमरे का दरवाजा खुला था. में जब कमरे में गई तो बाथरूम में शॉवर की आवाज़ आ रही थी शायद दीदी आज हॉस्पिटल नहीं गई थी. तब में वहां पर ही अपने कपड़े चेंज कर रही थी कि वहाँ मुझे दीदी का लेपटॉप दिखा. मैंने लेपटॉप चालू किया तो उसमें एक वीडियो चालू था, उसमें दो लड़कियां एक दूसरे को किसिंग कर रही थी और एक दूसरे के बूब्स को सहला रही थी और एक गर्ल दूसरी गर्ल की चूत को सहला रही थी. ये देखकर मुझे कुछ अजीब लगा और में वो वीडियो देखने लगी. उसमें अब वो गर्ल्स एक दूसरे की चूत चाट रही थी, ये सब देखकर में भी थोड़ी गर्म हो रही थी और अब मेरे बूब्स और निप्पल कड़क हो गये थे, मैंने पहली बार ऐसा कुछ देखा था और पहली बार मेरी चूत में गुदगुदी हो रही थी.

फिर मैंने चूत पर हाथ रखा तो मुझे चूत पर कुछ गीलापन महसूस हुआ, ये मेरा फर्स्ट टाईम था. फिर मैंने लेपटॉप बंद कर दिया और कपड़े चेंज करने लगी, तभी बाथरूम से मुझे कुछ आवाज़ आने लगी. फिर में बाथरूम में देखने की कोशिश कर रही थी, लेकिन कुछ अच्छे से दिखाई नहीं दे रहा था. फिर मैंने देखा कि दीदी पूरी नंगी थी तब मैंने उनके 36 साईज के बड़े बूब्स और उनकी चूत पहली बार देखी थी. वो अपने हाथ से अपनी चूत को सहला रही थी और उसकी चूत एकदम क्लीन शेव थी, जबकी मेरी चूत पर छोटे- छोटे बाल थे. वो अपनी एक उंगली चूत में डाल रही थी और मुँह से आवाज़ निकाल रही थी. ऐसा मैंने पहले कभी नहीं देखा था. अब मेरी चूत में भी कुछ हो रहा था. मेरे हाथ मेरी चूत पर थे और में उसे सहला रही थी, में पूरी तरह से गर्म हो गयी थी और अब मेरा एक हाथ बूब्स पर और दूसरा हाथ मेरी चूत पर था. ये सब मुझे कुछ अलग लग रहा था.

 

[irp]

फिर दीदी ने अब शॉवर बंद किया तब में अपने कपड़े पहनकर रूम से बाहर निकल गई और जब में रात को खाना खाकर पढाई करने बैठी थी और दीदी अपने लेपटॉप पर कुछ कर रही थी. फिर मैंने दीदी से जानबूझ कर साइन्स का टॉपिक फीमेल योनि के सिस्टम के बारे में पूछा और बोली कि मुझे ये कुछ समझ में नहीं आ रहा है, प्लीज मुझे समझा दो, आप तो डॉक्टर हो आप अच्छे से समझा सकती हो. तब दीदी मुझे फीमेल योनि के बारे में बताने लगी और लेपटॉप पर एक वीडियो प्ले करके मुझे समझाने लगी. उस वीडियो में एक गर्ल दूसरी गर्ल को नंगी करके चूत को दिखाकर योनि के बारे में बता रही थी और वो एक दूसरे को किस कर रही थी.

मैंने दीदी से पूछा कि सभी गर्ल की एक समान ही योनि होती है क्या? आपकी कैसी है प्लीज मुझे दिखाओ. मुझे लग रहा था कि ये सब दीदी को भी पसंद है तो दीदी ने हाँ कर दी और उन्होंने मुझे अपने कपड़े निकालने को कहा और वो भी झट अपने कपड़े निकालकर नंगी हो गयी थी. में पहली बार दीदी को सामने से नंगी देख रही थी, उसकी चूत एकदम क्लीन थी और अपने बड़े-बड़े बूब्स को ब्रा से अलग कर दिया.

 

अब में ब्रा और पेंटी में थी तो दीदी ने मुझे पूरा नंगी होने को कहा. मुझे शर्म आ रही थी तो फिर दीदी ने ही मेरी ब्रा को खोला और पेंटी भी निकाली और मुझे अपनी चूत दिखाकर योनि के बारे में बताने लगी और वो मेरी चूत को भी देखने लगी थी. फिर दीदी ने मेरा हाथ अपनी चूत पर रखकर देखने को बोला और वो मेरी चूत को देखने लगी, वो मेरी चूत को सहला रही थी और अब वो मेरे बूब्स को भी प्रेस कर रही थी. में अब थोड़ी गर्म हो रही थी और अचनाक दीदी ने अपने लिप्स मेरे लिप्स पर रखकर किस करने लगी. अब हम दोनों एक दूसरे को अच्छे से किस कर रहे थे और वो मेरी उंगली अपनी चूत में डलवा रही थी और मेरी चूत को भी अब ज़ोर से रगड़ रही थी. फिर दीदी ने मुझे झट से बेड पर लेटा दिया और मेरी चूत के पास आकर मेरी चूत चाटने लगी. अब मुझे कुछ अजीब सा लग रहा था. वो एक हाथ से मेरे बूब्स को दबा कर रही थी और चूत को चाट रही थी.

 

[irp]

अब में भी दीदी की तरह आवाज़ निकाल रही थी आअहह ययसस्सस्स. अब वो अपनी जीभ मेरी चूत के अंदर डाल रही थी. मुझे एक अजीब सी फिलिंग हो रही थी और मेरी चूत बहुत गर्म हो गई थी और मेरी चूत थोड़ी गीली भी थी. अब दीदी अपनी चूत मेरे मुँह के पास लेकर आई और मेरे मुँह पर रब करने लगी. में भी उनकी तरह अपनी जीभ दीदी की चूत में डालकर चाटने लगी. दीदी की चूत बहुत गर्म थी और दीदी अपनी चूत को मेरे मुँह पर अच्छे से रगड़ने लगी और वो मेरी चूत को भी अच्छे से चाट रही थी. मेरे मुँह से अजीब सी आवाज़ निकल रही थी, लेकिन दीदी की चूत मेरे मुँह पर होने की वजह से ज्यादा आवाज नहीं निकल रही थी, दीदी अब अच्छे से मेरी चूत चाट रही थी और मुझे कुछ अजीब सा महसूस हो रहा था.

अब मेरी चूत से कुछ निकलने वाला था और मेरी बॉडी कुछ अकड़ रही थी. अब दीदी ज़ोर-ज़ोर से चूस रही थी कि तभी मेरी चूत में से कुछ निकल गया और में एकदम उछल पड़ी और कमर को ज़ोरदार झटका दिया, मुझे पता नहीं था कि ये में क्या कर रही हूँ? फिर मैंने ऐसे ही कमर को 2-3 झटके दिए और में एकदम से हल्का महसूस करने लगी. मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मैंने एकदम से सब कुछ पा लिया है. फिर दीदी ने अपनी चूत मेरे मुँह रख दी और अब में दीदी की चूत चाट रही थी और अब दीदी भी अपनी कमर हिला रही थी और मेरी जीभ अपनी चूत के अंदर ले रही थी और एक ही झटके में उनकी चूत के अंदर से पानी मेरे मुँह पर गिरने लगा. अब वो अपनी एक उंगली चूत में डालकर अंदर बाहर कर रही थी और उनकी चूत का पानी मेरे मुँह पर डाल रही थी और ऐसे ही हम दोनों बहनों ने खूब मजा किया.

 

दोनों बहनों की कामुक दास्तान – कहानी अच्छी लगी तो फेसबुक, ट्विटर और दुसरे सोशियल नेटवर्क पे हमें शेर करना ना भूलें. आप की एक शेर आप को और भी बहतरीन स्टोरियाँ ला के दे सकती हैं. हम आपके लिए औरवि अच्छे कहानी लाने की कोसिस करेंगे ता की आपको पढ़ने मई औरवि मोजा आये .

[irp]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. .